Bluepadशादी के बाद भी बेटी जिम्मेदारी है।
Bluepad

शादी के बाद भी बेटी जिम्मेदारी है।

 मंजू ओमर
मंजू ओमर
16th Sep, 2020

Share

बहुत से माता-पिता और अन्य अपनी लड़कियों की शादी के बाद अपने कर्तव्य की इतिश्री मान लेते हैं।अगर उसके साथ उसके ससुराल में कुछ ग़लत होता है और वो अपने मायके में रहना चाहती है तो उसे ब्रोकर्स समक्षा जाता है । यदि शादी शुदा लड़की की कोई छोटी बहन या भाभी हो तो उसकी स्थिति और भी जटिल हो जाती है ।।सब मिलकर उसे यह एहसास कराते हैं कि अब हम लोग तुम्हारी जिम्मेदारी से मुक्त हो चुके हैं ।।,अब ससुराल ही तुमहारा घर है ।हमें आगे दूसरी जिम्मेदारी निभानी है । छोटी बहन की शादी करनी है । तुम्हारे यहां रहने पर उसका रिश्ता करने में परेशानी होगी । लड़की की शादी कराकर समाज उसके प्रति अभिभावक के कर्तव्यों की इतिश्री समझ कर जिम्मेदारी से मुक्त कर देता है । परिणाम स्वरूप कोई भी अभिभावक निजी तौर पर मान लेते हैं कि अब वह बेटी की तरफ से अपने सबसे बड़े दायित्व से मुक्त हो गये है । लड़कियों को अब कानूनी तरीके से पिता की सम्पत्ति में भागीदार भी घोषित कर दिया है । परन्तु व्यवहारिक तौर पर अभी इस तथ्य को स्वीकार नहीं किया गया है ।सच तो यही है कि लड़की अभी भी अधिकांश परिवारों में किसी न किसी रूप में शादी के पहले भी बोक्ष माना जाता रहा है और शादी के बाद भी । बेटियों को चाहिए कि अपना पूरा ध्यान अपने कैरियर पर लगाये और अच्छे से पढ़ लिखकर अपने पैरो पर खड़ी हों ताकि वह हमेशा एक सम्मान भरा जीवन जी सकें ।

मंजू ओमर
क्षांसी

11 

Share


 मंजू ओमर
Written by
मंजू ओमर

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad