Bluepadतलाक नहीं बेटी की शादी कराओ
Bluepad

तलाक नहीं बेटी की शादी कराओ

 मंजू ओमर
मंजू ओमर
27th Jul, 2020

Share

तलाक एक ऐसा शब्द है जो नुकीले तीर की तरह दिल को भेद देता है । दो जिंदगी को बर्रबाद करने वाला यह तलाक बच्चों के भविष्य को भी खतरे में डाल देता है । तलाक जैसे मामले में बच्चे इस बात से परेशान हो जाते हैं कि अब उन्हें जिंदगी भर मम्मी पापा मे से किसी एक का ही प्यार मिल पायेगा। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें लगता है कि जेसे किसी चलती हुई गाड़ी से एक पहिया निकाल दिया हो ।
इसी तरह एक मामला सामने आया है एक तलाक शुदा परिवार में सयानी हो रही बिटिया के पिता को जिम्मेदारी का अहसास दिलाने के लिए कोर्ट को आगे आना पड़ा। कोर्ट ने बीबी से तलाक मांगा रहे व्यक्ति को आदेश दिया कि पहले बेटी की शादी कराओ।जिंस पिता ने जन्म से लेकर 24 साल तक बेटी से कोई संबंध नहीं रखा , कोर्ट परिसर के अलावा कभी उससे मिले नहीं,वो अदालत के आदेश पर उसके हाथ पीले करेगा । कोर्ट ने कहा याचिका कर्ता की बेटी विवाह योग्य हैं मार्च में बीए अंतिम वर्ष की परीक्षा देगी।निकट भविष्य में यदि उसकी शादी होती है तो उसका सारा खर्चा उठायेगा। इतना ही नहीं, शादी के खच के अलावा वह कोर्ट के आदेश पर मां बेटी को गुजारा भत्ता भी देगा।यह केस मेरठ जिले के एक गांव का है, जिसमें याचिका कर्ता की शादी 25 साल पहले हुई थी और एक साल बाद ही दोनों अलग हो गए थे उसका केस चल रहा था । बेटी का जन्म नाना के घर हुआ था । न्याय मूर्ति माला दिक्षित,श्री दिल्ली ने सयानी हो चुकी बेटी के पिता को जिम्मेदारी का एहसास दिलाने के लिए यह फैसला सुनाया जिम्मेदारी के भले ही कोर्ट को आगे आना पड़ा लेकिन यह क़दम निश्चित ही सराहनीय है
मंजू ओमर
क्षांसी

8 

Share


 मंजू ओमर
Written by
मंजू ओमर

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad