Bluepadकौन हूँ मैं?
Bluepad

कौन हूँ मैं?

R
Rosy Malhotra
16th Jul, 2020

Share

कौन हूँ मैं? क्या है मेरी पहचान? किसी की हूँ बेटी, तो हूँ किसी का मान किसी की हूँ बहन, तो किसी का ईमान, कोई है पूजता, तो कोई है धिक्कारता कही कहलाती हूँ ग्रहलक्षमी, तो कही बनाकर वस्तु बेची जाती, गज़ब की इस दुनिया में, अपने ही अस्तित्व का पता पूछ्ती मैं हूँ कौन? कही चढाये जाते मुझ पर फूल, तो कही तेज़ाब से नहलाई जाती, बेरहम ये दुनिया हर तरफ़ से मुझे ही फ़टकारती, कही की हूँ इज़्ज़त तो कही बन गयी हूँ महज़ एक गाली, अब तक तो जान ही गये सब की हूँ मैं एक नारी, क्या कल की और क्या आज की पहचान बस इतनी सी की हूँ मैं एक नारी, जैसे लड़ी थी लक्षमी बाई, वैसे ही मैं भी लड़ जाऊंगी जो मेरी तरफ़ उठी एक भी आवाज़ तो उसे खींच काट जाऊंगी, नहीं हूँ अबला इसलिये तुझे भी कोख में रखती हूँ, सह कर दर्द तेरे जन्म का तुझे भी आज़ाद करती हूँ, फ़ेंका था तुने तेज़ाब जब तो 'अनमोल' सी कली सब सह गयी, मुरझाई थी जब एक और कली वो 'निर्भया' तुझे भी तो आज़ाद ही कर गयी थी, मेरे बिना क्या अस्तित्व हैं तेरा अंश तो आखिर तू है मेरा, चंद पंक्तियों में अपना एक परिचय देती, कल की क्या आज की, हूँ तो मैं एक नारी|

15 

Share


R
Written by
Rosy Malhotra

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad