Bluepadकुछ तो गलत हुआ है
Bluepad

कुछ तो गलत हुआ है

G
G.s.bist
6th Jul, 2020

Share

हमसे ,कुछ तो गलत हुआ है
हमसे, कुछ तो ,गलत हुआ है,जिसकी सजा,
ईश्वर, हमे दे रहा है।
बड़े घर, बड़े भूखंड और एशो आराम लिए
कहीं हमने ,दूसरे प्राणियों का हक,
तो नहीं छीन लिया है?
रहते थे,जो अपने घरों में चैन से,
उनको ही, उनके घर से,
बेघर, तो नहीं कर दिया है?
हमसे, कुछ तो गलत हुआ, जिसकी सजा ,
ईश्वर, हमें दे रहा है।
पानी ,धरती ,हवा और जंगल
ईश्वर ने, किसके लिए, बनाए थे ?
हमको तो इतना भी, ज्ञान न हो सका,
केवल अपने सुख के खातिर,
हमने ढाए जुल्म, इन पर भी बेहद,
हमसे, कुछ तो, गलत हुआ है, जिसकी सजा,
ईश्वर, हमें दे रहा है।
बना के रखी थी‌, हमने, दवाइयां ढेरों
सब धरी का धरी रह गई ,
कोरोना के छोटे से वायरस को ,
एक भी झेल न सकी
देखो तो-
एक झटके में ,उसने,सबको ठप कर दिया।
इंसान जो, उडता था, आसमान में,
उसे घर बैठने को, मजबूर कर दिया,
हमसे, कुछ तो, गलत हुआ है,जिसकी सजा,
ईश्वर, हमें दे रहा है।
10/05/20

15 

Share


G
Written by
G.s.bist

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad