Bluepad | Bluepad
Bluepad
आस्तीन के सांप
Shravn Chaudhary
Shravn Chaudhary
24th Jan, 2023

Share

माना मैं नेक नहीं
लाखों में एक नहीं
कोई पहचान नहीं
कोई सम्मान नहीं
न ही आंखों का तारा हूं
मां का न राजदुलारा हूं
न मेरी कोई चाहत है
न मुझसे कोई आहत है
न साजिश न ही खिलाफ हूं
रखता अपना दिल साफ हूं
फिर भी खटकू कुछ आंखों को
अपने आस्तीन के सांपों को
✍️Shravn Chaudhary

1 

Share


Shravn Chaudhary
Written by
Shravn Chaudhary

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad