Bluepad | Bluepad
Bluepad
अनुबंध नई
O.N. Tripathi
O.N. Tripathi
22nd Jan, 2023

Share

अब तो-
भूल रहे,
सब-
संगी साथी;
छोड़ रहे-
नित,रिश्ते नाते,
जब से!
पा ली है तुमने,
अभी-अभी!!
अनुबंध नयी,
सच मानो!
तबसे तुम तो,
तोड़ चुकी हो-
संबंध कई।
© ओंकार नाथ त्रिपाठी अशोक नगर बशारतपुर गोरखपुर उप्र।
अनुबंध नई

0 

Share


O.N. Tripathi
Written by
O.N. Tripathi

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad