Bluepad | Bluepad
Bluepad
RAP जिंदगी की जंग
Mysterious vision
Mysterious vision
18th Jan, 2023

Share

सोचती रेहती दिन रात मैं
यूही खुद को कोसती हर हाल मैं
दिमाग का हाल देखा नहीं जाता
अंदर हीं अंदर से परेशान मैं
हर कोई अलग अलग सलाह देता
पता नहीं क्यू वो क्या मेरे बारे मैं सोचता
हाल ए जिंदा लाश हूं..
हार कर थकी हुई नार हूं
मेरे जैसा कोई हो नहीं सकता
इस किरदार को कोई सेह नहीं सकता
दर ब दर ये राहे गुमराह करती है
कोस कोस कर मन हीं मन मार देती है
जीने की तमन्ना अब भी रखती हूं
नये बडे ख्वाब अब भी देखती हूं
क्यू पल पल डरता है ये दिल
क्यू खुद को ताने मारे.. फिर भी
क्यू गिरकर बार बार खुद को संभाले
हजार बार टूट गयी फिर भी
उठ के खडी हुई...
हराना तो चाहता जमाना मगर
जितने का जुनून जो सवार है...
हार कर भी जितने को बाजीगर केहते है....
बाजीगर केहते है.......

170 

Share


Mysterious vision
Written by
Mysterious vision

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad