Bluepad | Bluepad
Bluepad
विचित्र गुब्बारा
n
nagendra pundhir
24th Nov, 2022

Share

विचित्र गुब्बारा
एक बार ऐसा हुआ समजा नामक गुब्बारा विचित्र
जो उस गुब्बारे को फुलाता अंदर ही घुस जाता चरित्र
अनेकों लोगों को निगल गया आपका गुब्बारा
ऐसा होता जैसे जैसे समजा बड़ा हो रहा होता
आप स्वयं गुब्बारे में प्रवेश कर गए कई बार चारा
तोड़ बहुत सीधा हवा भरते वक्त गुब्बारा यदि फटा
विशेषज्ञ युवी ने पांच रुपया देकर दरोगाजी दुकान
उस समजा को खरीदा कुछ समझाना चाहता रहा
सबसे पहले चालाकी से युवी ने उसमें पानी भरा हाँ
लेकिन गुब्बारा ज्यादा न फूला और न ही फटा कान
युवी गुब्बारा वैज्ञानिक समजा हवा भरना किया चालू
जब भी अंदर घुसने को होता अपनी उन्गलियों से
समजा गुब्बारे की गर्दन जोर से दबाए रखता फिर उसे
फुलाता चला गया गुब्बारा अंत में फ़ट लू

174 

Share


n
Written by
nagendra pundhir

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad