Bluepad | Bluepad
Bluepad
भक्ती
Jguruprasad
Jguruprasad
22nd Nov, 2022

Share

तन की सूनी
मन की सुनी
न सुनी अंतर्मन की l
उसने ये कहा
मैने ये सूना
सब सुनी सूनाई
दुनिया की l
साधू संत की नहीं सुनी
ईश्वर की अमृत वाणी l
शेष समय अब नही रहा
बारी आयी इस जग
से विदा लेने की l
मेरे प्यारे आत्मन...
अब तो जाग !!
चल राह परमात्म भक्ती की l
© गुरूप्रसाद......
भक्ती

177 

Share


Jguruprasad
Written by
Jguruprasad

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad