Bluepad | Bluepad
Bluepad
मेरी कहानी मेरी ज़ुबानी
Monika Jayesh Shah
Monika Jayesh Shah
23rd Sep, 2022

Share

मेरी कहानी मेरी ज़ुबानी
मेरी कहानी मेरी ज़ुबानी
जब किसी का दिल प्यार मे होता हैं.. मन की उमंग मे तरंगे खाता हैं. तब उसके दिल से कविता बनती हैं!
#मेरीक़लमसे
मेरी कहानी मेरी जुबानी
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
हर सुबह हर शाम हो तुम।
बिन कहे मेरी ही ख़ामोशी का
तन्हाई का सुखद आलम हो तुम।
कहती नहीं जताती नहीं.
पर जबसे नैना मिले अपने
तबसे तुम ही मेरा पहला प्यार हो।
यू तो हमारी एक अपनी अलग जिंदगानी हैं;
पर तेरे मेरे नैना की एक अलग कहानी हैं।
ना तुम मिलते हों ना हम मिलते है;
पर मेरी अनकही बीती कहानी हो तुम।
बाते अब हमारी कुछ ख़ास होती नहीं,
खामोशी अब हमारी कभी सोती नहीं.
यू तो दिल हर बार कहता हैं तुमसे.
मिलने का रहता हैं इंतजार हमे
हमारी अनकही सुलझी कहानी हो तुम!
जी लेते है अब बिन तेरे हम
वहीं दीदारे मजबूर कहानी हो तुम।
समझ लेना हमे हमेशा तुम
जैसे हम हमेशा समझते है..तुम्हें!
वचनबद्ध है.आज से हम और तुम!
दिल का हमारा प्यार सच्चा हैं.. ये
प्यारा दिलदार ही समझ सकता हैं!
अब कहे क्या हम तुमसे मेरे दिलबर
कभी कुछ कहने को रहता नहीं!
जो मिला जितना मिला उसमे
हम–तुम हमेशा खुश रहेंगे;
✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️
मोनिका जयेश शाह

179 

Share


Monika Jayesh Shah
Written by
Monika Jayesh Shah

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad