Bluepad | Bluepad
Bluepad
अन्नदाता
Pratiksha
Pratiksha
4th Aug, 2022

Share

 अन्नदाता
एक किसान हूं मैं,
रहता हूं गांव में।
लोग कहते हैं मुझे अन्नदाता,
कई बार मुझे भूखा ही सोना पड़ता।
गरीब हूं मैं; अनपढ़ हूं मैं,
काम बंद नहीं करता हूं मैं।
सुबह में जल्दी उठता,
हल बैल लेकर खेत पर पहुंच जाता।
करता हूं मैं धरती की सेवा,
करना है मुझे देश की सेवा।

178 

Share


Pratiksha
Written by
Pratiksha

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad