Bluepad | Bluepad
Bluepad
संगत ...
pooja nichole
pooja nichole
4th Aug, 2022

Share

संगत ...
इंसान की संगत बड़े ही मायने रखने वाली चीज है। एक इंसान चाहे तो आबाद कर सकता है, और चाहे तो बर्बाद भी कर सकता है। इसीलिए, किसी के भी साथ रहने से पहले उसे अच्छे से समझना यहाँ कारीगर साबित होता होता है। इंसान अगर समजझदार और जिम्मेदार हो, तो चाहे आपके आसपास रेगिस्तान भी क्यों ना हो, आपको उसमे शाद्वल का अनुभव हो सकता है। वही अगर साथ देने वाला ही आग लगाए, तो सावन भी यहाँ कुछ काम नही कर सकता है।
वैसे तो सभी अकेले रह सकते है या रह लेते है। पर फिर भी ये जो कहाँ जाता है की किसी के होने का महत्त्व कुछ अलग ही ऊंचाई हमे दिलाता है, यह बात कोई यूँही नहीं है। यह आपके परिवार, मित्रगण इनमें से कोई भी हो सकता है।अब सवाल यह उठता है की, ऐसे लोगों की जरुरत क्यों होती है ? तो इसका भी जवाब यही है की, रास्ता तो सभी को काटना होता है, पर फिर भी जब रास्ते में कोई हमारा आत्मविश्वास कायम रखने में हमारी मदद करे, हमे अपने सही- गलत चिजों के साथ अपनाए, हमे भटकने से रोके, हमे दुनिया का मतलब समझाए और सबसे महत्वपूर्ण बात की हमे हमसे मिलाए, तो बात कुछ अलग होती है। इंसान का खुदसे मिलना यहाँ मायने रखता है। और अचरज की बात यह है की खुदसे मिलने के लिए दुनिया की जरूरत, हो ना हो, होती ही है। यह एक निरंतर प्रक्रिया है, जो जीवन भर के लिए चलती है और फिर यहाँ हमे लगते है लोग, जो हम पर हम से ज्यादा विश्वास रखते है। उम्मीद तो खैर सब रख लेते है पर उतना ही विश्वास शायर बहुत कम लोग रखते है। कहते है 'उम्मीद पर दुनिया कायम है', पर मेरी मानो तो, उम्मीद से ज्यादा विश्वास पर दुनिया कायम रहती है। ऐसा नही की, लोग मिलते नही सहकार्य नही करते, पर सच्चे मन से जो आपको दुनियादारी मे साथ दे वैसे लोग शायद कम ही होते है, तो यह आपका कर्तव्य है की, ऐसे लोगों को जो दुनिया के सागर मे मोती की तरह होते है, उन्हें आप संभाले क्योंकी, मोती ऐसे ही नही बनते है ना ही मिलते है। ऐसे लोग पहले तो बहुत कम होते है फिर जो मिले तो अपने पास हर हालात मे साथ रखना चुनौती का कार्य है। पर जीवन की परीक्षा इसी मे है। इसलिए जो भी अच्छा है, उसे अपने पास मे संभाल कर रखना हमारा कर्तव्य है और यह बात हम जितने जल्दी समझ सके उतनी ही हमारी भलाई है। संगत पर संतों ने, बड़े- बुजुर्गों ने यूँ ही अपनी राय नही दी है। इंसान की व्यक्तित्व पर संगत का बड़ा ही असर होता है, इसलिए तो कहा जा सकता है की, 'संगत बढ़िया तो सब बढ़िया' ...

110 

Share


pooja nichole
Written by
pooja nichole

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad