Bluepadए निकम्मी सरकार रेल तेरी
Bluepad

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली !

इस्लाम शेरी
15th Jun, 2020

Share

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

कांप जाता है कलेजा
बेबसी ऐसी कभी देखी न सुनी
बच्चा जना मां ने सडक पर
फिर भी वह उठ के चली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

कट गए मजदूर पटरी पर
थके मांदे सोते हुए
था तेरे ही पास सब कुछ फिर भी
इतनी सी घटना तुझसे न टली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

नाप लिए मील हजारों
भूखे नंगे पैरों ने
बहा खून सडकों पर
तू सोया था जो कि
तुझको बात पता न चली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

बूढे सत्तर साल के,
बच्चे कमतर हाल के
पैरों से खून बहुत बहाए हैं
रोई बहुत दुनिया फिर भी
तेरे मन हुई कोई न खलबली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

हजारों लाखों बेघर बेकस
चल रहे हैं सदियों सदियों से
देख न पाए इनको अब तक
हुआ क्या तेरी आंख को
दिखती तो थी अच्छी भली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

सिर पर, ठेली पर और साइकिल पर
बोझ लिए गृहस्थी भरका
नाप ली उन्होने देश की
सडकें कच्ची पक्की और गली

ए निकम्मी सरकार रेल तेरी
तब तक क्यों न चली

-इस्लाम शेरी
-इस्लाम ''

0 

Share


Written by
इस्लाम शेरी

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad