Bluepad | Bluepad
Bluepad
शायरी
Shahista Shakil Mulla
Shahista Shakil Mulla
22nd Jun, 2022

Share

कितना भी दिल लगा लो किसी से
कुछ न कुछ छूट जाता है
कल अपनो मैं थे हम उनके
आज पराया कहा जाता है
शायरी

176 

Share


Shahista Shakil Mulla
Written by
Shahista Shakil Mulla

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad