Bluepad | Bluepad
Bluepad
babu brannd
 Babu  Brandd
Babu Brandd
14th May, 2022

Share

हम आप पर मरते हैं मर जायेंगे
तुम्हे पाने के लिए कुछ भी कर जायेंगे
चाहते तो बेइन्तेहा हैं आपको हम कि
हम आपके लिए सारी दुनिया से लड़ जायेंगे
चाँद चांदनी के लिए लाये थे
ज़मीन पर सितारे समाये थे
दीवाने तो पहले से थे आपके हम
तभी तो हम आपके दीदार करने घर आये थे
सुबह में देखूं शाम में देखूं
तेरा प्यारा सा चेहरा मैं चाँद में देखूं
तेरे हुस्न की क्या तारीफ करूँ मैं
तेरा चेहरा मैं सरे जहाँ में देखूं
जो इश्क़ है तुम्हारा बड़ा बेदर्द है
कहीं तुमसे ना हो जाये इसका हमें डर है
जिस बात का डर था वही हो गया
लो कम्बख्त इस दिल में तुम्हारा घर हो गया
चलो माना कि
राज़ किसी को बताया नहीं जाता
मगर मेरी जान
अपने हमराज़ से छुपाया भी नहीं जाता
अहसासों की किताब पलट के देखना मैं मिलूंगा
तुम्हारे साथ ज़िन्दगी भर चलूँगा
तुम्हारा साथ दूंगा किताब में पन्नों की तरह
तुमसे जुड़ हर तुम्हारा हर दर्द सहूंगा
जिस रोज तुमसे गले मिले हैं....
मुर्शाद ....
मेरा दिल तुम्हारा नाम लेना लग गया है

182 

Share


 Babu  Brandd
Written by
Babu Brandd

Comments

SignIn to post a comment

Recommended blogs for you

Bluepad